आज कुछ लिखने का मूड है /अमन कुमार ‘त्यागी’

मित्रों मूड भी अजीब चीज होती है। कब किस चीज के लिए हो जाए पता नहीं। शुक्र है कि आज मेरा मूड कुछ लिखने का है, मगर क्या? यह शोचनीय है। कुछ बड़े लेखकों की तरह घंटे भर शौचालय में भी बैठ आया मगर समझ में ही नहीं आया, क्या लिखू? एक दो मित्रों से […]

Translate »