अच्छा बताओ क्या लिखूं?/अमन कुमार त्यागी

यह राजनीति कम ही लोगों की समझ में आती है। जिनकी समझ में आती है वही तो गाड़ी में बैठते हैं और जिनकी समझ में नहीं आती उनके पैर गाड़ी के पहिए के नीचे दबकर टूट जाते हैं। लेकिन नेता जी की बात उस आदमी की समझ में आ जाती है और वह घर में […]

Translate »