तीस्ता की गोद और बौद्ध के पालने में जवां होता प्रकृति का अनिंद्य सौन्दर्य ‘गंगटोक’

यह मंगोलियन, चीनी, बांग्ला, पहाडी, नेपाली, हिंदू मिश्रित संस्कृतियों का अद्भुत और अकल्पनीय भारतीय प्रदेश है। तिब्बत के पठारों से निकलती तीस्ता सिक्किम के लिए जीवनरेखा है। इसकी घाटी में पहाडी जीवन पैदा और जवां होता है। इस लिए तीस्ता यहा के जनमानस के लिए केवल एक नदी भर नहीं है, बल्कि उनके जीवन की […]

Translate »