तिब्बत पर मुखर होने की जरुरत/-अरविंद कुमार सिंह

तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा के अप्रैल माह में अरुणाचल प्रदेश के दौरे को लेकर जिस तरह चीन द्वारा प्रतिकार जताते हुए द्विपक्षीय संबंधों में खटास उत्पन होने और विवादित सीमा क्षेत्र की शांति भंग होने का राग अलापा गया है वह कुल मिलाकर उसकी छल-कपट की कुटनीति को ही उजागर करता है। अच्छी बात है […]

नई ऊंचाई पर भारत-बांग्लादेश संबंध/ -अरविंद जयतिलक

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना की भारत यात्रा से दोनों देशों के ऐतिहासिक व सभ्यतागत संबंधों को नई ऊंचाई मिली है। दोनों ही देश महत्वपूर्ण समझौतों पर मुहर लगाकर संकेत दे दिए हंै कि बदलते वैश्विक परिदृश्य में कंधा जोड़ने को तैयार है। दोनों ही देश घुसपैठ, उग्रवाद, आतंकवाद की साझा चिंताओं के संदर्भ में […]

Translate »