रोमियो-जूलियट के अमरप्रेम को  बदनाम न करें…।

अरविन्द कुमार सिंह  sharpreporterazm@gmail.com हठयोग के नायक योगी आदित्यनाथ की सरकार  ने सड़क छाप आशिकों के लिए खतरे की घंटी बजा दी है। सच तो यह है कि आवारा और मनचले आशिकों के लिए उत्तर प्रदेश में शामत के दिन शुरू हो गये हैं ।इसी के साथ ये सवाल भी उठने शुरू हो गए हैं […]

मजबूत या मजबूर गठबंधन / अरविन्द कुमार सिंह

यह एक लंबे दौर की सियासी पारी खेलने की तैयारी है, या भाजपा के शिखरपुरूष नरेन्द्र दामोदर दास मोदी को उत्तर प्रदेश में ही घेर लेने की रणनीति। यह सन्-2019 के भारत विजय की पटकथा लेखन का सियासी रिहर्सल है, या दुनिया के पाँचवे नंबर के सबसे बडे देश, और भारत की सबसे बड़ी आबादी, […]

मोदी के घर अखिलेश सजाएंगे यूपी के विकास की झांकी

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुजरात की राजधानी गांधीनगर पहुंचकर सूबे के विकास के लिए किए जा रहे कामों को गिनाएंगे। प्रवासी भारतीय दिवस समारोह के तीन दिनी आयोजन में प्रदेश का अपना पवेलियन सजेगा। Read more about मोदी के घर अखिलेश सजाएंगे यूपी के विकास की झांकी

दिल्ली का कुरूक्षेत्र करो या मरो-अमित राजपूत

अमित राजपूत
अण्णा आन्दोलन के भ्रष्टाचार विरोधी ऐतिहासिक आंदोलन की नींव पर खड़ी आम आदमी पार्टी ने अपने आरम्भ  में एक राजनैतिक दुंदुभी बजाई थी. इस दुंदुभी में फूंक मारने वालों में संस्थापक अरविन्द केजरीवाल  के साथ तमाम अन्य प्रमुख चेहरे थे. जिन्होंने बीते दिल्ली विधानसभा के चुनाव में जीत हासिल की और मंत्री भी रहे.

Read more about दिल्ली का कुरूक्षेत्र करो या मरो-अमित राजपूत

आजमगढ़ के विकास की नई इबारत लिखते मुलायम!

1983 करोड़ की परियोजना से ‘माॅडल जिला’ बनाने की पहल  अरविन्द कुमार सिंह शार्प रिपोर्टर : लोकसभा चुनाव-2014 में मैनपुरी के साथ आजमगढ़ से नामांकन करने जब मुलायम सिंह यादव ‘जिला निर्वाचन अधिकारी’  कार्यालय पहुँचे तो आजमगढ़ वासियों के मन-मस्तिष्क में यह बात तेजी से चल रही थी कि आजमगढ समाजवादी पार्टी के सियासी प्राथमिकताओं […]

विकास की नई इबारत लिखती अखिलेश सरकार-पटवारी

उ.प्र. की समाजवादी पार्टी की सरकार ने अपने तीन साल के कार्यकाल में जो कार्य किये हैं। वह देश के अन्य राज्यों की सरकारों के लिए एक उदाहरण है । देश के सबसे बड़े राज्य उ.प्र. के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने युवा, किसान, महिला, व्यापारी, विद्यार्थी सभी वर्गों के लिए विकास के नये-नये सोपान खोले हैं। जिस पर चढ़ उ.प्र. उत्तम प्रदेश बनने की राह पर है।

Read more about विकास की नई इबारत लिखती अखिलेश सरकार-पटवारी

जिसमें देश अपना, कल का ‘नायक’ देख रहा है…


-अरविन्द कुमार सिंह  

चार साल पहले दिल्ली के जन्तर-मन्तर पर गाँधीवादी अन्ना हजारे के नेतृत्व में भ्रष्टाचार से बिलबिलायी जनता जनलोकपाल और बाद में निर्भया काण्ड के विरोध में, सड़कों पर जब उतरी तो आजादी के बाद दूसरी बार देश ने सत्ता-प्रतिष्ठानों के खिलाफ देश का गुस्सा देखा था। इस गुस्से की कोख से निकला आम आदमी का प्रतिरोध

Read more about जिसमें देश अपना, कल का ‘नायक’ देख रहा है…

चमन को सीचने में पत्तियाँ कुछ झड़ गयी होंगी …

-बीरेन्द्र सिंह चन्द्रशेखर! भारतीय राजनीति में अदम्य साहस का वह नाम है, जिसने जीवन की अंतिम सांस तक झुकना नहीं सिखा, विचारों की दीवानगी ऐसी कि विरोधियों को भी दीवाना बना दें। अपने विचारों  को हर कीमत पर रखने की हिम्मत चन्द्रशेखर को भारतीय राजनीति में एक महान शख़्सियत और व्यक्ति से ‘संस्था’ बना देती […]

भारतीय किसानी की नियति है ‘गजेन्द्र की मौत’


भारतीय किसानी की नियति है ‘गजेन्द्र की मौत’
अरविन्द कुमार सिंह-संपादक ‘शार्प रिपोर्टर’
  68 साला हिन्दुस्तानी ज़म्हूरियत का एक दर्दनाक मंजर लुटियन्स की दिल्ली से देश की नसों में समा जाता है। देश की संसद से बमुश्किल एक किमी की दूरी ‘जन्तर-मन्तर’ पर दिल्ली सरकार के आँखों के सामने ‘भारतीय किसान’ की ‘लाइव आत्महत्या’ की वीडियो बनती है। 50 मीटर की दूरी पर ‘आप’ के मंच पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल समेत उनका कबीना,

Read more about भारतीय किसानी की नियति है ‘गजेन्द्र की मौत’

दिल्ली वालों को और शर्मसार ना करो


अनामी शरण बबल

श्री मान अरविंद केजरीवाल जी आपने तो राजनीति को गली मोहल्ले के झगडालू औरतों का खेल बना दिया। ( कोई मर्द तो कमसे कम इतने लंबे समय तक सास बहू की लड़ई का अंतहीन खेल नहीं सकता) यदि आप सत्ता में नहीं होते और लड़ते झगड़ते यदि यमुना में डूब भी मरते तो किसी को न खबर होती न समाज का एक पता ही हिलता। मगर अफसोस कि आप इस समय दिल्ली के मुखिया हो और हम सब जिन उम्मीदों के साथ आपको अपना समर्थन दिया था उसके लिए तो अभी दो साल भी नहीं हुए कि शर्म आने लगी। लग रहा है मानो आप का संताप दिल्ली के सिर पर बोलने लगा है।  Read more about दिल्ली वालों को और शर्मसार ना करो