उत्तर प्रदेशः अमीर अंचल – गरीब अंचल/गुंजेश्वरी प्रसाद

अमीरी और गरीबी की परिभाषाएं बदल चुकी हैं और दिन व दिन बदल रही है, लेकिन गरीबी एक ऐसी बीमारी है जो परिभाषाओं के बदल जाने से नहीं बदल रही है। मोबाइल फोन तो पूर्वी उत्तर प्रदेश में 75 से 80 परिवारों के पास पहुंच चुका है, लेकिन शौचालय की व्यवस्था 10 – 15 प्रतिशत […]

यहां सुहागन तीन माह जीती हैं विधवा की जिंदगी

पति की सलामती के लिए लेती है ऐसा फैसला आजमगढ़.। यह एक ऐसी परंपरा है जिसपर विश्वास करना मुश्किल है लेकिन वर्षों से ऐसा होता आ रहा है। यहां की महिलाएं सुहागन होने के बाद भी तीन माह तक मांग में सिंदूर नहीं भरती और पति के सलामती के लिए अपने इष्ट की पूजा में […]

मील का पत्थर साबित होगी विशेष अदालतें

देश में भ्रष्टाचार की एक बड़ी वजह है यह दागी नेता और उनके भ्रष्टाचारी तौर-तरीके। इस बीमारी से तभी मुक्त हुआ जा सकता है जब आरोपी राजनेता के खिलाफ चल रहे मुकदमे जल्द से जल्द अपने मुकाम पर पहुंचें और दोषी पाए जाने पर उसे जीवनभर चुनाव न लड़ने दिया जाए और सख्त सजा का […]

समाज-मंथन

नागरिक समाज और हमारे प्रयत्न

शार्प रिपोर्टर, मनमीत मासिक पत्रिका एवं समाचार पत्र ?फ्लाइट न्यूज? के तत्वावधान में ग्राम समाज में चेतना जागृति एवं सामूहिक हित को आधार बनाकर एक महत्वपूर्ण ?समाज-मंथन? का शुभारम्भ किया जा रहा है। हमारे प्रकाशन के माध्यम से आपके विचार सुझाव एवं दिशा-निर्देश, उपयोगी साहित्य, लेख सादर आमंत्रित हैं। हमारे कार्यक्रम ?समाज-मंथन? में भी आपका स्वागत है।

Read more about समाज-मंथन

जल प्रबंधन

न्याय पंचायत सिकन्दरा की भौगोलिक स्थिति

न्याय पंचायत सिकन्दरा के मध्य गंगा की एक सहायक नदी ‘मनसरिता’ (मनसइता) स्थित है। यह बरसाती नदी है जो बहुधा बरसात में ही उफनती है और आसपास के क्षेत्र में कुछ नुकसान भी करती है। कभी-कभी गंगा की बाढ़ से प्रभावित होती है। इस नदी की लम्बाई लगभग 35 किमी. है। यह नदी सिकन्दरा, बकसेडा, दलीपुर, बलीपुर की कृषि भूमि को भी  प्रभावित करती है

Read more about जल प्रबंधन

Translate »