कभी देश के लिए लगाती थी निशाना, अब संतरे बेचने को मजबूर

सरकारी उपेक्षा का दंशः- राष्ट्रीय अवार्ड विजेता तीरंदाज बुली की जिन्दगी सन्-2010 में तब कठिन हो गई, जब चोट की वजह से उसे खेल से बाहर हो जाना पड़ा। और पेट पालने के लिए तीर धनुष को छोड संतरे बेचने पर मजबूर होना पडा। शार्प रिर्पोटर.इन/ ब्यूरो तीरंदाज…..बुली बासुमातरी को लोग अब तक एक अवार्ड […]

Translate »