नरौरा परमाणु संयत्रः विकास का वाहक- अमित राजपूत

अमित राजपूत

दिन अपनें यौवन पर था। सूरज ठीक सिर के ऊपर, लेकिन शान्त चित्त से ही वो हमें निहार रहा था। पास में एकदम तराई सी ठण्ड। पानी का ज़ोर-ज़ोर से झरना हमें रोमांचित कर रहा था। ऊपर से मस्तानी हवा की दस्तक हमें रूहानी फितरत का अहसास करा रही थी। साथ ही कूलिंग टॉवर को उसके ठीक धरातल से ऊपर की ओर देखने पर हमें भारी रोमांच का अहसास हो रहा था। Read more about नरौरा परमाणु संयत्रः विकास का वाहक- अमित राजपूत

Translate »