आओ राजनीति खेलें/अमन कुमार त्यागी

राजनीति जानना अलग बात है, समझना अलग और करना अलग बात है। यह खेल बहुत ही अजीब है। इस खेल में कितने खिलाड़ी होने चाहिए अभी विद्वान यह निश्चित नहीं कर पाए हैं। इस खेल के मैदान की नाप सीमित भी हो सकती है और असीमित भी। इसमें आपको हंसना भी आना चाहिए और रोना […]

षष्ठम देवी- कात्यायनी

कात्यायनी शुभं दद्याद्देवी दानवघातिनीघ भगवती दुर्गा के छठें रूप का नाम कात्यायनी है। महर्षि कात्यायन के घर पुत्री के रूप में उत्पन्न हुई थी। आश्रि्वन कृष्ण चतुर्दशी को जन्म लेकर शुक्ल सप्तमी, अष्टमी तथा नवमी तक तीन दिन उन्होंने कात्यायन ऋषि की पूजा ग्रहण कर दशमी को महिषासुर का वध किया था। इनका स्वरूप अत्यंत […]

अमन की अमनिका एं

1 मैं एक चराग़ की तरह जलने में रह गया मौसम की तरह रोज़ बदलने में रह गया हर हमसफ़र ने राह में धोका दिया मुझे मंजिल न आई और मैं चलने में रह गया सूरज की तरह रोज़ निकलने में रह गया 2 गीत गाने को जी चाहता है प्रीत पाने को जी चाहता […]

पंचम देेेेवी : श्री स्कंदमाता

“सिंहासनगता नित्यं पद्याञ्चितकरद्वया। शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी॥“ श्री दुर्गा का पंचम रूप श्री स्कंदमाता हैं। श्री स्कंद (कुमार कार्तिकेय) की माता होने के कारण इन्हें स्कंदमाता कहा जाता है। नवरात्रि के पंचम दिन इनकी पूजा और आराधना की जाती है। इनकी आराधना से विशुद्ध चक्र के जाग्रत होने वाली सिद्धियां स्वतः प्राप्त हो जाती […]

थोपाथोपी का खेल/अमन कुमार त्यागी

भारत की ही नहीं बल्कि दुनिया की परंपराएं बड़ी अजीब हैं। विभिन्न देशों एवं विभिन्न संस्कृतियों वाली इस दुनिया को निराली दुनिया वैसे ही नहीं कहा जाता है। विभिन्न बोलिया, आदमियों के विभिन्न रंग-रूप, विभिन्न खान-पान, विभिन्न रहन-सहन, सभी कुछ विभिन्न होते हुए भी उनके अपने विचार किसी थोपे हुए व्यक्ति के विचार बन जाते […]

चतुर्थ देवी- कूष्मांडा

सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च। दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मेघ भगवती दुर्गा के चौथे स्वरूप का नाम कूष्माण्डा है। अपनी मंद हंसी द्वारा अण्ड अर्थात् ब्रह्माण्ड को उत्पन्न करने के कारण इन्हें कूष्माण्डा देवी के नाम से अभिहित किया गया है। जब सृष्टि का अस्तित्व नहीं था। चारों ओर अंधकार ही अंधकार परिव्याप्त था। तब इन्हीं देवी […]

नवदेवियों में तृतीय देवी चंद्रघंटा

नवरात्र के तीसरे दिन माँ दुर्गा के तीसरे स्वरूप ‘शैलपुत्री’ की पूजा होती है। माँ दुर्गा की तृतीय शक्ति का नाम चंद्रघंटा है। नवरात्रि विग्रह के तीसरे दिन इन का पूजन किया जाता है। माँ का यह स्वरूप शांतिदायक और कल्याणकारी है। इनके माथे पर घंटे के आकार का अर्धचंद्र है, इसी लिए इन्हें चंद्रघंटा […]

शार्प रिपोर्टर द्वारा आयोजित ‘मीडिया समग्र मंथन-2018’

शार्प रिपोर्टर द्वारा आयोजित ‘मीडिया समग्र मंथन-2018’ का दो दिवसीय राष्ट्रीय आयोजन दिनांक 7-8 अप्रैल-2018 को पूर्वांचल के आजमगढ़ में होना सुनिश्चित हुआ है। इस कार्यक्रम में देश के विभिन्न राज्यों से मीडिया जगत के पुरोधा, साहित्य और आन्दोलन के विशिष्ट अतिथि का समागम हो रहा है। ‘संवाद-परिसंवाद-सम्मान’ का यह उत्सव प्रदेश के मान-सम्मान में […]

जालबपुर गूदड़ अब पुराना गाँव नहीं लगता

जनपद बिजनौर की तहसील नजीबाबाद में स्थित गाँव जालबपुर गूदड़ आब आधुनिक होता जा रहा है। विगत योजना तक यह गाँव विकास से कोसो दूर था। सड़कें, नाली सब कच्ची और कीचड़ भरी होती थीं। यही नहीं गाँव की महिलाएं और पुरुष प्रायः खुले में ही शौच के लिए जाते थे मगर आज ऐसा नहीं […]

द्विवीतीय देवी मां ब्रह्मचारिणी

नवरात्रि के दूसरे दिन ‘ब्रह्मचारिणी स्वरूप’ की पूजा की जाती है। यह त्याग और तपस्या की देवी हैं, जिन्हें वेद-शास्त्रों और ज्ञान की ज्ञाता भी माना गया है। मां ब्रह्मचारिणी का स्वरूप अत्यंत भव्य और तेजयुक्त है। मां ब्रह्मचारिणी के धवल वस्त्र हैं। उनके दाएं हाथ में अष्टदल की जपमाला और बाएं हाथ में कमंडल […]

Translate »